CBSE Board:बोर्ड ने जारी किया बहुत ही महत्वपूर्ण निर्देश से विद्यार्थियों को जानना extremely urgent

सीबीएसई बोर्ड: बोर्ड द्वारा जारी किए गए बेहद जरूरी निर्देशों से छात्रों को जानना बेहद जरूरी है

CBSE Board Exams 2023: सीबीएसई 10वीं, 12वीं के रिजल्ट (Cbse Board Latest Update) की घोषणा के साथ ही बोर्ड ने कई अहम घोषणाएं की हैं. इस हिसाब से रिजल्ट के साथ ही 10वीं, 12वीं कंपनियों के पुनर्मूल्यांकन की तारीख भी घोषित कर दी गई है. वहीं एक अन्य अहम जानकारी में यह भी कहा गया है कि शैक्षणिक सत्र 2022-2023 के लिए 10वीं, 12वीं की परीक्षाएं फरवरी में कराई जाएंगी. इसके साथ ही वार्षिक परीक्षा साल में एक बार ही आयोजित की जाएगी। अब ऐसे में इस साल 10वीं, 12वीं के छात्र ध्यान दें कि बोर्ड ने परीक्षा पैटर्न को लेकर साफ कर दिया है.

Important Link

बोर्ड ने अपनी जानकारी में कहा है कि अब इस साल यानी 2023 में 10वीं, 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं पुराने पैटर्न के आधार पर होंगी. इसके मुताबिक बोर्ड अब शैक्षणिक सत्र 2023 (सीबीएसई बोर्ड परीक्षा 2023) के लिए 10वीं, 12वीं की परीक्षाएं साल में दो बार नहीं बल्कि एक बार आयोजित करेगा. दरअसल साल 2021 में कोविड-19 संक्रमण की दूसरी लहर के चलते सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं दो टर्म में कराने का फैसला लिया गया था. इसके अनुसार इस वर्ष के लिए बोर्ड ने दोनों कक्षाओं की परीक्षा दो टर्म में कराई थी, जिसमें पहले टर्म में बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे गए थे, जबकि दूसरे टर्म में विशेषण प्रश्न पूछे गए थे. जहां पहले सेमेस्टर की परीक्षा नवंबर-दिसंबर में और दूसरी अप्रैल-मई में हुई थी, वहीं बोर्ड ने अब पुराने पैटर्न पर लौटने का फैसला किया है।

नमूना पेपर और अंकन योजना

सीबीएसई 10वीं, 12वीं के छात्र जो वर्ष 2023 की बोर्ड परीक्षा में शामिल होने जा रहे हैं, वे अध्ययन सामग्री जैसे सैंपल पेपर, प्रश्न पत्र, मार्किंग स्कीम और प्रश्न बैंक cbseacademic.nic.in पर जाकर डाउनलोड कर सकते हैं। हालांकि इसे तय समय पर पोर्टल पर भी जारी किया जाएगा। सैंपल पेपर तैयार करने से छात्रों को बोर्ड परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों के पैटर्न और प्रकार के बारे में अच्छी जानकारी होगी।

 

UP Board Scholarships: यूपी बोर्ड के स्टूडेंट्स को मिलेगी 10000 रुपये की स्कॉलरशिप
यूपी बोर्ड ने शुक्रवार को स्कॉलरशिप के लिए पात्र पाए गए छात्रों की कटऑफ लिस्ट जारी कर दी।

उत्तर प्रदेश बोर्ड का 12वीं का रिजल्ट जून में घोषित किया गया था. इस साल इंटर की परीक्षा में कुल 11,460 छात्र शामिल हुए हैं, जो मेधावी छात्र बने हैं। वहीं केंद्र सरकार द्वारा हर साल मेधावी छात्रों को छात्रवृत्ति दी जाती है। इस स्कॉलरशिप के तहत हर छात्र को सालाना 10,000 रुपये दिए जाते हैं। ऐसे में केंद्र सरकार की इस छात्रवृत्ति योजना के तहत यूपी बोर्ड की इंटरमीडिएट की परीक्षा पास करने वाले 11,460 छात्रों को सालाना 10 हजार रुपये दिए जाएंगे.

 

यूपी बोर्ड ने शुक्रवार को स्कॉलरशिप के लिए पात्र पाए गए छात्रों की कटऑफ लिस्ट जारी कर दी। स्कॉलरशिप के लिए आर्ट्स, कॉमर्स और साइंस स्ट्रीम के लिए नंबरों की पात्रता का भी उल्लेख किया गया है। जिन छात्रों ने आर्ट्स स्ट्रीम में 347 या उससे अधिक, कॉमर्स स्ट्रीम में 341 या उससे अधिक और साइंस स्ट्रीम में 321 या उससे अधिक अंक प्राप्त किए हैं, उन्हें छात्रवृत्ति के लिए पात्र माना जाता है। हालांकि, इन नंबरों के अलावा, छात्र की पारिवारिक आय 8 लाख रुपये से कम होनी चाहिए।

आधिकारिक वेबसाइट से आवेदन करें

पात्र छात्रों की जानकारी शिक्षा मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाइट www.scholarships.gov.in पर उपलब्ध है। नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल 20 जुलाई से 31 अक्टूबर तक खुला रहने वाला है। इस बीच छात्र स्कॉलरशिप के लिए आवेदन कर सकते हैं। यूपी बोर्ड के कार्यवाहक सचिव दिव्यकांत शुक्ला ने सभी पात्र छात्रों को आधिकारिक वेबसाइट पर जाने और आवश्यक विवरण यहां पढ़ने के लिए कहा है। इसके बाद स्कॉलरशिप के लिए अप्लाई करें।

22 लाख से ज्यादा छात्रों ने दी बोर्ड परीक्षा

उच्च शिक्षा संस्थान के नियमित पाठ्यक्रमों में प्रवेश लेने वाले छात्र भी छात्रवृत्ति के लिए पात्र होंगे। गौरतलब है कि यूपी बोर्ड 12वीं कक्षा के परीक्षा परिणाम 18 जून को घोषित किए गए थे। इस साल 12वीं की बोर्ड परीक्षा में 22 लाख से अधिक छात्र शामिल हुए थे। वहीं, इस साल यूपी बोर्ड का पासिंग परसेंटेज 85.33 फीसदी रहा। वहीं बोर्ड परीक्षा में लड़कियों ने लड़कों से बेहतर प्रदर्शन किया। यूपी इंटर के रिजल्ट में बोर्ड परीक्षा में 81.21 फीसदी लड़के पास हुए, जबकि लड़कियों की संख्या 90.15 फीसदी रही.

Leave a Comment

Your email address will not be published.